System software क्या है? इसके Uses क्या हैं?

हेल्लो दोस्तों, अगर आप हमें पहले से ही follow कर रहे हैं या कंप्यूटर के बारे में तोड़ी बहुत भी जानकारी रखते हैं तो आपने System software के बारे में तो पहले भी सुना होगा ये Software का एक टाइप है जो हमारे कंप्यूटर या उसमे use होने वाले हार्डवेयर के लिए बहुत जरूरी होता है।

System software In Hindi
System software क्या है


तो इन सभी बातो को ध्यान में रखते हुए आइये बड़ते हैं आपके सवालों की तरफ की System software क्या है? इसके Uses क्या हैं? जो आप जहां ढूंढ़ते हुए आए हो। तो चलिए बिना किसी देरी के आगे बढ़ते है।

System software क्या है?

दोस्तों, System software का मतलब specially उस सॉफ्टवेयर से होता है जो सिस्टम यानी कंप्यूटर के हार्डवेयर के लिए बनाया गया हो, ये सॉफ्टवेयर यूजर के लिए सीधे सीधे बहुत जरूरी नही होते लेकिन सिस्टम के चलने, स्टार्ट होने तथा हार्डवेयर तक किसी भी तरह का मैसेज या आदेश पहुचाने के लिए बहुत जरूरी होते हैं।

System Software
System Software


अगर सीधे सीधे बोला जाए तो एक सामान्य उपयोगकर्ता के लिए सिस्टम सॉफ्टवेयर directly कोई खास काम नही आता और कुछ system software से तो हम सीधे interact भी नही कर सकते हम ज्यादातर application software को ही इस्तेमाल करते हैं लेकिन ये एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर सिस्टम सॉफ्टवेयर के कारण ही अपना काम कर पाते हैं।

बिना सिस्टम सॉफ्टवेयर के कंप्यूटर को इस्तेमाल नही किया जा सकता। सिस्टम सॉफ्टवेयर का सबसे बड़ा उदाहरण है हमारे कंप्यूटर में इस्तेमाल होने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम चाहे विंडोज हो लिनक्स हो या MacOS हो ये सभी इसी के ही उदाहरण हैं।


System Software के Types

सामान्यतः System software दो तरह के होते है जो अलग-अलग लेवल पर सिस्टम से interact करते या कराते  हैं। ये दोनों टाइप्स कुछ इस प्रकार है :-

Operating system

ये वे software होते हैं जिनके कारण हमारा कंप्यूटर स्टार्ट हो पाता है ये सभी तरह के सॉफ्टवेयर का बेस होता है और सभी तरह के application software इसी के द्वारा चल पाते हैं सभी सॉफ्टवेयर ऑपरेटिंग सिस्टम के ऊपर ही इनस्टॉल होते हैं।

ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना हमारा कंप्यूटर खाली डिब्बे के अलावा और कुछ नही है क्योंकि अगर आपके कंप्यूटर में आपरेटिंग सिस्टम ही नही होगा तो  कंप्यूटर स्टार्ट ही नही हो पायेगा इससे आपको यह तो समझ आ ही गया होगा की Operating System क्या है



Device driver या ड्राइवर्स ऐसे सॉफ्टवेयर को कहा जाता है जो कंप्यूटर के hardware devices को कंट्रोल करने और उन तक मैसेज पहुचाने के लिए होते हैं।

ये सॉफ्टवेयर ओपरेटिंग सिस्टम के ऊपर ही Install होते हैं लेकिन ये उपयोगकर्ताओं के लिए सीधी तरह किसी काम के नही होते बल्कि ये सिस्टम यानी hardware ओर devices के लिए काम के होते हैं।

डिवाइस ड्राइवर्स को तो हम में से कई लोगो ने Install भी किया होगा क्योंकि इनको इनस्टॉल करना भी काफी सरल होता है यहां तक कि कई जगहों पर तो ये automatic इनस्टॉल हो जाते हैं जैसे विंडोज के पुराने versions में usb connect करने पर पहले उसका डिवाइस ड्राइवर इनस्टॉल होता था।

कई सारे device driver तो हमारे ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ ही included होते हैं इसलिए हमें उन्हें install करने की भी जरूरत नही होती। अगर आपको डिवाइस ड्राइवर्स के बारे में ओर जानना है तो नीचे दिए लिंक से जाकर पड़ सकते हैं।

Utility Software

Utility Software उस Software को कहा जाता है जो हमारे Computer को Utilize, Configure और Analyze करने में मदद करता है इन Software का इस्तेमाल ज्यादातर Computer की Performance को smooth बनाने किया जाता है।

Computers में Use होने वाले Antivirus जैसे Windows Defender इसका मुख्य उदहारण हैं इसके अलावा Disk Management, Task Schedular भी इसके कुछ उदाहरण है।



System software कैसे काम करते हैं?

अगर सिस्टम सॉफ्टवेयर के काम करने के तरीके के बारे में बात की जाए तो ये हार्डवेयर से डायरेक्ट interact करते है यानी ये यातो हार्डवेयर को डिटेक्ट करने का काम करते है या हार्डवेयर ओर दूसरे सॉफ्टवेयर के बीच मैसेज ट्रांसफर करने का काम करते हैं।

आपरेटिंग सिस्टम भी एक सिस्टम सॉफ्टवेयर है लेकिन इसमें कुछ एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर ओर सिस्टम सॉफ्टवेयर included होते हैं जैसे Operating सिस्टम की सबसे निचली लेयर जिसे kernal कहते हैं, कई सारे डिवाइस ड्राइवर्स भी include होते हैं जो इसके साथ काम करते हैं।


System Software के उपयोग (Uses Of System Software)

System Software का इस्तेमाल Computer और उसके अलग-अलग Devices को उपयोगी बनाने के लिए किया जाता है इनके इस्तेमाल से हम अलग-अलग हार्डवेयर को अलग-अलग तरह से Maintain और Usable बना सकते हैं। इसके कुछ uses इस प्रकार हैं :-

  • Computer को Boot कराना।
  • Virus आदि Malicious Software के लिए User को सूचित करना।
  • विभिन्न Hardware के लिए User को अलग-अलग Settings Provide करना आदि।


System software और Application software में अंतर

  • सिस्टम सॉफ्टवेयर हार्डवेयर से direct इंटरेक्ट करते हैं जबकि एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर ऐसा नही करते।
  • सिस्टम सॉफ्टवेयर एक normal यूजर के सीधे तोर पर काम मे नही आते जबकि application software को यूजर के काम आने के लिए ही डिज़ाइन किया जाता है।
  • सिस्टम सॉफ्टवेयर को कंप्यूटर में नया हार्डवेयर लगाने या पुराना सिस्टम सॉफ्टवेयर डिलीट हो जाने पर ही इनस्टॉल किया जाता है जबकि एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को यूजर अपनी मर्ज़ी से इनस्टॉल कर सकता है।
  • सिस्टम सॉफ्टवेयर के उदाहरण हैं विंडोज, लिनक्स, Wi Fi ड्राइवर और एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के उदाहरण है MS Office ओर Photoshop


दोस्तों, आज की Post में हमने जाना की System software क्या है? इसके Uses क्या हैं। हमें पूरी उम्मीद है की आपको यह Post पसंद आई होगी और काफी कुछ नया सीखने को मिला होगा। अगर आपका इस विषय में कोई भी सवाल या सुझाव है तो हमें निचे Comment में जरूर बताएं और इस Post को अपने दोस्तों के साथ भी जरूर Share करें।

धन्यबाद। 😊 ...

3 टिप्‍पणियां:

  1. Very useful and knowledgeable. Really its Great Article. Keep it up. A complete APP solution for dokan marketplace for your customer, vendor, and Driver.

    Dokan Apps

    जवाब देंहटाएं
  2. I always prefer to read the quality content and this thing I found in your post. I am really thank full for you for this post.
    Main Page Here

    जवाब देंहटाएं