GUI क्या है - Explained In Hindi

हेलो दोस्तों, आज के समय में अगर देखा जाय तो लगभग सभी लोग Computer से किसी न किसी प्रकार से जुड़े है या फिर use करे रहे है पर क्या आप जानते है की आखिर Computer को इस्तमाल करना इतना आसान कैसे हो पाया तो यह कहना गलत नहीं होगा की इसमें Computer में GUI ने एक क्रांतिकारी बदलाब किया है।


GUI क्या है


सोचिए अगर Computer को use करने के लिए Codding की या machine language आवश्यक होता तो फिर computer हर किसी को चला पाना संभव नहीं था क्योकि ये codding या programming language हर कोई इतनी जल्दी नहीं सीख पाता इसी के लिए ही GUI यानी ग्राफिकल यूजर इंटरफेस को develop किया गया जिससे यूजर को ग्राफ़िक्स के माध्यम से computer को use करना बड़ा ही आसान बना दिया है।


GUI क्या है?

GUI एक इंटरफ़ेस है जो की यूजर या उपयोगकर्ता को machine ( computer ) के साथ Communication को एक दृश्य या आइकॉन के रूप में दिखता है और यह  user interface है जो की यूजर को ग्राफ़िक्स के माध्यम से आइकॉन या बटन का use ही ग्राफ़िक्स के रूप किया जाता है और इसमें सामान्य text आधारित या codding आधारित संचार के बजाय इन आइकॉन और बटन के साथ बातचीत करके संचार किया जाता है।


GUI Example
GUI Example


GUI यानी Graphical User Interface जिसे हम गुइ या gooey द्वारा भी उच्चारण( pronounce) करते है और देखे तो 1970 के दसक से ही graphics पर आधारित elements का इस्तेमाल किया जाने लगा इसका सबसे अच्छा उदाहरण है सभी Operating systems जिनमे GUI का use किया जाने लगा है इनमे Linux में इस्तेमाल होने वाले GNOME व अन्य GUI Desktop, macOS और Microsoft Windows प्रमुख उदाहरण है।


GUI का फुल फॉर्म क्या है?

GUI का full form Graphical User Interface है जो की यूजर को ग्राफिकल इंटरफ़ेस देता है जिससे यूजर को computer के साथ  interact करने में button या icons का use किया जाता है।


GUI कैसे काम करता है? how doses GUI work?

दोस्तों GUI कैसे काम करता है इसे समझने के लिए हम ऐसे समझ सकते है जब GUI में कोई भी command जैसे की किसी फाइल्स को delete, Open या फिर file को move करने करने के लिए हम अपने सिस्टम पर window, icon और menu का उपयोग करते है न की किसी code का।


यह भी पड़ें :-

इस तरह से हम कह सकते है कि कंप्यूटर के साथ में interact करने लिए navigate करने के लिए mouse का use करते है और कई सारे shortcuts key के लिए keyboard का use करते है और भी आसान शब्दों में कहे तो यदि हमें कोई भी GUI ऑपरेटिंग सिस्टम पर कोई programs को खोलना है तो  इसके लिए बस अपने mouse के pointer को program के icon पर dual-click करे और वह program open हो जायगा जबकि यदि आप कोई GUI operating system का use नहीं करते है तो इसके लिए codding का जरुरत होती है।

और देखा जाय तो GUI उपयोगकर्ता की भाषा अनुवाद करने का काम करता है क्योकि मशीन केवल मशीनी भाषा को ही समझती है और GUI ही यह काम करता है।



GUI के फायदे।  Advantages of GUI

GUI को सीखना और इस्तेमाल करना बहुत आसान है क्योकि इसमें  command line operating system और CUI की तरह command याद रखने की जरुरत नहीं होती है।

किसी अन्य भाषा या प्रोग्रामिंग भाषा को सीखने की भी जरुरत नहीं होती है इसमें किसी भी चीज को खोजना बहुत ज्यादा आसान हो जाता क्योकि इसमें कोई भी चीज आसानी से search हो जाती है।

इसमें यूजर को बिना computer के ज्ञान के भी आसानी से सीख सकता है और इस्तेमाल कर सकता है।


यह भी पड़ें :-



GUI के नुक्सान। Disadvantages of GUI

इसमें आप किसी भी सिस्टम के बुनियादी कार्यक्षमता को नहीं बदल सकते है।

सिस्टम को कार्य करने के लिए अतिरिक्त Power की जरुरत पड़ती है।

यह Normal Command based इंटरफ़ेस की  तुलना में थोड़ा धीमे  चलता है।

इसको run करने के लिए भी अधिक memory की खपत होती है।

इसमें यूजर केवल बही कर पाता है जो की पहले से ही किसी अन्य developers के द्वारा पूर्व में प्रोग्राम किया गया हो।


उपयोगकर्ता GUI के साथ कैसे Interact करता है?

कोई उपयोगकर्ता GUI के साथ Interact करने के लिए सामान्य कार्य करने लिए जैसे Click करते है जो GUI को यह समझने के लिए trigger करता है और User क्या चाहता है इसे तुरंत ही GUI एक असेम्ब्ली भाषा में change कर देता है। 
इस तरह से पॉइंटिंग device mouse या फिर keyboard जैसे इनपुट device का इस्तमाल कर GUI के साथ बात चीत कर सकता है या interact करता है।


दोस्तों, आज हमने बात की GUI क्या है यानी Graphical User Interface क्या है उम्मीद है आपको जानकारी अच्छी लगी होगी और कुछ न्य सीखने को को मिला होगा इसके आलावा आपके किसी भी अन्य जानकारी या सुझाव के लिए comment करे और दोस्तों के साथ में शेयर करे।


कोई टिप्पणी नहीं